आगे

मास्टर और शिष्यों के बीच

साधुत्व का सच्चा अर्थ, नौ भाग का भाग ८

2020-12-28
भाषा:English

प्रकरण

विवरण
डाउनलोड Docx
और पढो
यदि आप एक भिक्षु बनना चाहते हैं, तो आपको वास्तव में ईमानदार होना होगा। केवल जब आप अन्य लोगों के लिए खुद को बलिदान करने के लिए तैयार हैं, तो ही आपको एक भिक्षु बनना चाहिए। अन्यथा, यदि आप केवल जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्त होना चाहते हैं, तो आपको साधु बनने की आवश्यकता नहीं है। आप साधारण कपड़े पहन सकते हैं और दुनिया में बाहर रह सकते हैं, और फिर भी मुक्त हो सकते हैं।
और देखें
प्रकरण
सूची
साँझा करें
साँझा करें
एम्बेड
इस समय शुरू करें
डाउनलोड
मोबाइल
मोबाइल
आईफ़ोन
एंड्रॉयड
मोबाइल ब्राउज़र में देखें
GO
GO
ऐप
QR कोड स्कैन करें, या डाउनलोड करने के लिए सही फोन सिस्टम चुनें
आईफ़ोन
एंड्रॉयड